35 C
Lucknow
May 9, 2021
Janta ka Safar
सेहत नुस्खे

कोरोना संक्रमण से बचने को गर्भवती बरतें सतर्कता, नवजात को लेकर इन बातों का रखें ध्यान

Pregnant women

लखनऊ। कोरोना को लेकर समुदाय के हर वर्ग के लोगों के मन में तमाम तरह के सवाल उठ रहे हैं। ऐसे में अपने साथ गर्भ में पल रही एक और जिन्दगी को लेकर गर्भवती के मन में भी तरह-तरह के सवालों का उठना लाजिमी है। वह उन सवालों के जवाब घर-परिवार के बड़े-बुजुर्गों के साथ क्षेत्रीय आशा कार्यकर्ता और एएनएम से भी जानने की कोशिश कर रहीं हैं। स्वास्थ्य विभाग भी ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस (वीएचएनडी), हर महीने की नौ तारीख को स्वास्थ्य इकाइयों पर आयोजित होने वाले प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस के साथ ही पोस्टर व पम्पलेट के जरिये उनके सवालों के जवाब देने में जुट गया है।

​समुदाय में हर गर्भवती का पहला सवाल यही होता है कि वह गर्भवती हैं तो क्या उनको संक्रमण का ज्यादा खतरा है। इस पर महिला एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. एस. पी. जैसवार का कहना है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर और प्रतिरक्षा प्रणाली में परिवर्तन के कारण वह श्वसन संक्रमणों से प्रभावित हो सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि वह विशेष सावधानी बरतें ताकि सुरक्षित रह सके। इसके बाद भी तेज बुखार, खांसी या सांस लेने में दिक्कत महसूस होने पर तत्काल चिकित्सक से परामर्श लें।

कोविड के संक्रमण से बचने के लिए गर्भवती को साबुन-पानी या सेनेटाइजर से हाथों को बार-बार साफ करते रहना चाहिए। एक दूसरे से दो गज की दूरी बनाकर रखें और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें, नाक-मुंह और आंख को छूने से बचें। खांसी या छींक आने पर मुड़ी हुई कोहनी से अपने मुंह और नाक को ढकें। इस्तेमाल किये गए टिशु पेपर को तुरंत ढक्कन वाले कूड़ेदान में डालें।
घर से बाहर तभी निकलें जब बहुत जरूरी हो, इस दौरान मास्क से मुंह व नाक को अच्छी तरह से ढककर रखें । ​कुछ महिलाओं का सवाल होता है कि ‘संक्रमित होने की स्थिति में क्या वह नवजात को छू सकती हैं।’ इस पर डॉ. जैसवार का कहना है कि हां, वह बिल्कुल छू सकती हैं। लेकिन, छूने से पहले हाथों को अच्छी तरह से साफ कर लें और मास्क लगा लें।
बच्चे को जन्म के पहले घंटे के अन्दर सुरक्षित रूप से स्तनपान कराना जरूरी है क्योंकि पहला पीला गाढ़ा दूध बच्चे को कई बीमारियों से बचाता है। इसके लिए जरूरी है कि बच्चे को छूने से पहले हाथों को अच्छी तरह से साफ कर लें और मास्क लगाकर ही स्तनपान कराएं। जिस स्थान पर स्तनपान कराएं वहां की सतह को भी साफ रखना बहुत जरूरी है। यदि मां की स्थिति अत्यधिक गंभीर है तो वह रिपोर्ट निगेटिव आने तक बच्चे को अपने से अलग रखे।
चिकित्सकों के मुताबिक गर्भवती महिलाएं उन चीजों के बारे में चिंता न करें, जो हमारे हाथ में नहीं हैं। लेकिन, उन चीजों पर ध्यान केंद्रित करें, जिन्हें नियंत्रित किया जा सकता है। अपने आपको शांत रखें, आपके चारों ओर क्या हो रहा है पर एक नजर रखें। तनाव आपके साथ आपके गर्भ में बच्चे के लिए भी बुरा है। इसलिए घबराएं नहीं और दिमाग से काम लें। कोरोना की रोकथाम के लिए तीन मूल बातें सेंसिबल स्‍पेसिंग, हाथों की स्वच्छता और खांसते समय मुं‍ह को कवर करना इनका पूरी तरह से पालन करें।

Related posts

Digestive System ठीक करना है तो जानें कब, क्यों और कैसे करें भोजन

admin

कैलोरी से भरपूर होता है आम, ऐसे खाएंगे तो नहीं बढ़ेगा वजन

admin

बेहद लाभदायक होती है मेथी, इसके 11 फायदे जानकर आप हैरान रह जायेगे

admin

Leave a Comment